पेट गैस बनने का कारण और इससे बचने के आसान और अचूक उपाय

दोस्तों आज हम एक जिस समस्या के बारे में बात करने जा रहे हैं अगर उसे देखा जाये तो वो ये एक बहुत ही आम बात है लेकिन कई बार इसे हल्के में लेना आपकी जान आफत में डाल सकता है, और अगर कहीं बाहर हैं और आपको ये समस्या है तो समझो आप तो गए। जी हाँ दोस्तों आज हम आपको गैस की समस्या के बारे में बताने जा रहे हैं।

गैस की समस्या दोस्तों एक मनुष्य को किसी भी उम्र में हो सकती है चाहे हो कोई छोटा बच्चा हो या फिर कोई बुजूर्ग व्यक्ति, और अगर हम इसको बार बार अनदेखा करेंगे तो ये हमारे लिए एक बहुत ही बड़ी समस्या हो सकती है आपके लिए क्योंकि ये समस्या आगे जाकर अल्सर का रूप धारण कर लेती है।तो दोस्तों अगर आप भी अपने पेट में बन रही गैस की समस्या से परेशान हैं तो इस आर्टिकल को आखिर तक पढ़ लें।

pet gas ke ghrelu ilaj

क्या आपको पता है गैस बनने का असली कारण क्या है?

दोस्तों अगर देखा जाए तो गैस का बनना हमारे शरीर की एक स्वाभाविक क्रिया है लेकिन जब हम अपने खाने में अतिरिक्त फाइबर युक्त आहार लेते हैं तो ये अतिरिक्त फाइबर हमारे शरीर में गैस बनानी शुरु कर देती है।

जब आपको गैस बनती है तो आपको पेट फूलने लग जाता है। जब ये गैस बन जाती है तो पेट में मजूद बैक्टीरिया इस गैस को उत्सर्जित कर देते हैं।

गैस बनने के और भी बहुत सारे कारण होते हैं जैसे की बिना भूख लगे भी अनियमित आहार खाना , ज्यादा खट्टे फल , तीखे, मिर्च मसालेदार, चर्बी बढ़ाने वाले खाद्य सामग्री का सेवन , सही समय पर न सोना, खाने में सलाद न लेना, दिन में पीने के पानी की मात्रा कम लेना, चना, उड्द, मटर, मूग, आलू, मसूर, गोभी, चावल आदि का बहुत ज्यादा सेवन करना।

इसके अलावा अधिक गुस्सा करना, शोक, चिंता जैसे मानसिक कारण, शारीरिक परिश्रम न करना, यकृत रोग की उपस्थिति, मांस का सेवन अधिक करना आदि गैस बनने के मुख्य कारण हैं।

pet gas ke karan

इसके अलावा कुछ और कारण भी हैं जैसे की:

  • रात को खाना खाने के तुरंत बाद ज्यादा पानी पीना।
  • फ्रिज से सीधे खाना निकालकर खा लेना या ज्यादा ठन्डे खाना का सेवन करना।
  • बासी खाने को खाना या कच्चा पक्का खाना खाना।
  • भोजन को अच्छी तरह से चबाकर नै खाना।
  • ज्यादा मात्रा में शराब पीने से लीवर का खराब हो जाता है और फिर पेट में ये गैस बनाना शुरु कर देता है।
  • ज्यादा मात्रा में चाय तथा कॉफी का सेवन करना, खाना खाने के तुरंत बाद ही सो जाना या रात को देर से खाना खाना।
  • मोटापा और थॉयराइड का रोगी होना भी गैस की समस्या का एक मुख्य कारण है।

नोट: अगर आपको गैस की समस्या बार बार और कुछ ज्यादा हो रही होतो आप डॉक्टर की सलाह अवश्य ले लें।

पेट गैस के कारण होने वाली बीमारियां और उनके लक्षण कैसे पहचानेंगे आप?

दोस्तों आपके लिए सबसे पहले एक जानकारी होना बहुत जरूरी है की पेट गैस के लक्षण क्या होते हैं या फिर पेट में गैस की बीमारी अगर आपको हो भी जाती है तो तब आप नीचे दिए गए लक्षण पहचानकर गैस की बीमारी का पता लगा सकते हैं:

अगर आपके पेट में एसिडिटी के साथ जलन और सिर दर्द की शिकायत रहने लगे तो ये पेट गैस के लक्षण होते हैं।

इसके साथ मन में बेचेनी होना, जी मचलाना, पेट में कब्ज लगातार रहना, पेट में दर्द होना,पेट का फूल जाना,काम करते समय काम में ठीक से मन न लगना और इसके अलावा याददाश्त कमजोर होना और दिमागी तौर पर कमजोर हो जाना पेट गैस की बीमारियां आपको हो सकती है अगर आपके पेट में लंबे समय से गैस बन रही है तो आपके लिए बड़ी समस्या पैदा हो सकती है।

गैस बनने से बचने के कुछ आसान और घरेलू नुस्खे:

अजवाइन पेट गैस के लिए है रामबाण दवाई:

दरअसल दोस्तों अजवाइन हमारे पेट के बहुत सारे रोगों से लड़ने के लिए काम आती है लेकिन इसका सबसे अच्छा काम होता है पेट गैस की समस्या को दूर करने के लिए होता है।

अगर आपको गैस की समस्या बार बार होती है तो एक छोटा चम्मच अजवाइन लीजिए और उसे 1 कप पानी के साथ ले लीजिए, आपको गैस और एसिडिटी में फ़ौरन आराम मिलेगा।

ajwayen se pet gas ka ilaj

पुदीना दिलाता है पेट गैस से निजात:

आयुर्वेद में पुदीने को स्वास्थ्य की दृष्टि से एक संजीवनी बूटी माना गया है और खासकर जब तब बात हमारे पेट से जुडी हो। पेट के रोगों के मामले में पुदीना एक अचूक दवा के रूप में काम करता है।पुदीना सामान्यतः पेट की जलन और एसिडिटी को दूर भागने के लिए किया जाता है।

हम पुदिने का पानी बनाकर भी पी सकते हैं और पुदीने को हम चटनी के रूप में भी ले सकते हैं।

poodina paani se pet gas ka ilaj

अगर आपके पेट में गैस बन रही है या फिर जी मचला रहा है और इसके साथ उल्टी तथा दस्त जैसी समस्या और पेट की गैस की शिकायत हो रही है तो आप पुदीने का पानी या फिर चटनी बनाकर इसे घ्रण कर सकते हैं।इसके अलावा हम बात करें तो सबसे ज्यादा पुदीने का काढ़ा या फिर ग्रीन टी के रूप में भी ले सकते हैं।

पूरी तरह से आयुर्वेदिक होने की वजह से ये आपको किसी भी प्रकार का साइड इफ़ेक्ट नहीं होने देगा और अगर आप इसे यूँही बिना किसी वजह से ले रहे हो तो भी ये आपके शरीर के लिए काफी फायदेमंद शाबित होगा।

पेट की गैस का घरेलू ईलाज है दालचीनी (Cinnamon treats stomach gas in Hindi):

दरअसल दालचीनी हमारे पेट की दीवारों से गैस्ट्रिक एसिड और पेप्सिन के ज्यादा स्रावित होने को रोकने में काफी मददगार शाबित होती है। जब हम दालचीनी का सेवन करते हैं तो इसके लेते ही हमारे पेट में तुरंत आराम मिल जाता है।

दालचीनी को लेने का सबसे बढ़िया तरीका आधे चम्मच दालचीनी पाउडर लेकर उसमें एक कप गर्म दूध मिला लें और फिर एक चम्मच शहद मिलाकर और इस मिश्रण को अच्छे से घोलकर पी लें।ऐसे हफ्ते में 2-3 बार करने पर आपकी गैस की समस्या ठीक हो जाएगी।

निम्बू का सेवन से करें गैस की समस्या को जड़ से खत्म:

वो कहते हैं ना के जितना छोटा उतना खोटा तो ये कहावत निम्बू पर एक दम फिट बैठती है क्योंकि निम्बू का पेट गैस से निजात दिलाने में किसी से मुकाबला नहीं है।

पेट से जुडी बिमारियों में निम्बू एक काफी अच्छा विकल्प शाबित होता है।अगर कभी भी आपको पेट में मरोड़ या फिर गैस और एसिडिटी जैसे समस्या हो रही है तो सादे पानी में निम्बू के साथ नमक मिलाकर पी लें आपको तुरंत आराम मिलेगा। इसके अलावा आप निम्बू से बनी चाय भी पी सकते हैं।

सेब का सिरका करे पेट गैस की समस्या को दूर:

देखा जाये तो सेब के सिरके का उपियोग हमेशा से ही एक पाचक के रूप में किया जाता है। सेब का सिरका पेट से जुड़े रोगों के लिए काफी अच्छा शाबित होता है और खासकर पेट गैस के लिए।

सेब के सिरके में पाए जाने वाले पाचक एंजाइम हमारे शरीर को अलकलाइज करने में भी मदद करते हैं जिससे आपको अपना पेट काफी हल्का लगने लगता है। सेब का सिरका पेट साफ़ करने में भी काफी मदद भी करता है।

seb ke sirke se pet gas ka ilaj

सेब के सिरके को पीने का सही तरीका एक गिलाश पानी को गुनगुना कर लें और उसमें 2-3 चम्मच सिरका मिला लें और अच्छी तरह से घोलकर पी लें, ऐसा दिन में 2 बार करें तो आपके पेट गैस की समस्या जल्दी ठीक हो जाएगी।

सरसों से करें पेट गैस का इलाज:

सरसों के द्वारा पेट गैस का इलाज करने का एक बेहद ही आसाम तरीका है क्योंकि सरसों हर एक घर में आसानी से मिल जाती है और इसमें मौजूद एसिटिक एसिड आपके पेट की एसिडिटी को खत्म करता है।

इसके लिए आपको सबसे पहले थोड़ी सी पीली सरसों लें और उसे गर्म पानी के साथ खा लें आपको जल्दी ही पेट गैस की समस्या खत्म हो जाएगी।

त्रिफला करे पेट की समस्या को दूर (Triphala for stomach gas in Hindi):

एक चम्मच त्रिफला पाउडर लेकर उसे एक गिलास पानी में करीब 5 से 10 मिनट तक उबाल लें और इसे ठंडा करके पी लें। ऐसा दिन में 2 बार पिएँ। त्रिफला पेट की गैस को खत्म करने में काफी मददगार शाबित होता है। एक ध्यान हमें रखना होगा के त्रिफला चूरण हमें ज्यादा मात्रा में नहीं लेना है।

सौंफ से करें पेट गैस का इलाज:

दरअसल सौंफ पेट गैस की समस्या से निजात दिलाने में सबसे अच्छा काम करता है। सौंफ बच्चों के पेट की समस्या को भी दूर करने में काफी मददगार शाबित होता है। सौंफ से इलाज करने के लिए आपको सबसे पहले एक चम्मच सौंफ लेकर उसे पीसना होगा और और पीसने के बाद उसमें थोडा पानी डालकर उसे उबाल लें। इसके बाद इस पानी को ठंडा होने के बाद छानकर पी लें ऐसा आप दिन में 2 बार भी कर सकते हैं अगर आपको दिक्कत ज्यादा हो रही है तो।

saunf se pet gas ka ilaj

इसके अलावा आप दूसरा तरीका भी आजमा सकते है उसके लिए आपको सौंफ, दालचीनी, और पुदीने की पत्तियों को लेकर एक साथ पानी में उबाल लें और थोडा गर्म गर्म इसे पी लें।

तो दोस्तों ये थे हमारे द्वारा बताए गए पेट गैस की समस्या से निजात दिलाने के लिए घरेलू इलाज, उम्मीद है आप में से बहुत सारे ये उपाय अपनाकर ठीक भी हो जाएँगे। आगे भी हम आपको इस तरह के आर्टिकल लिखते रहेंगे, आपका काम बस इन आर्टिकल्स को शेयर करने का है। 



Amit Shrivastava
 

हैल्लो, मेरा नाम अमित अम्बरीष श्रीवास्तव है। मैं एक लेखक और एक ब्लॉगर हॅू और मुझे रचनात्मक लेखक बहुत पसंद है। मैंने 2013 में अपनी ब्लॉगिंग करियर की शुरूआत की थी, और कभी पीछे नहीं देखा। य​ह ब्लाग मैने स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती से सम्बन्धित अपने विचार साझा करने के लिये बनाया है और मुझे आशा है कि आपको इसका कॉंटेंट पसंद आयेगा।

Click Here to Leave a Comment Below 0 comments

Leave a Reply:

CommentLuv badge