गुर्दे की पथरी को जड़ से खत्म करने के घरेलू एवं देसी इलाज(Kidney Stone Home Remedies)

आज कल के खान पान की कारण पथरी की बीमारी होना एक आम बात हो गयी है, छोटे बच्चे से लेकर बड़े लोगों तक ये समस्या पाई जाने लगी है। हालाँकि पथरी होना कोई गंभीर बीमारी तो नहीं लेकिन जब पथरी का दर्द होता है तो ये किसी के लिए भी असहनीय दर्द होता है, और खासकर जब दर्द गुर्दे की पथरी का हो।दरअसल हमारे खाने में मिलने वाले मिनरल और सोडियम समय के साथ साथ इकठ्ठा होकर पथरी का रूप धारण कर लेते हैं। पथरी के लक्षण हमे शुरुवात में देखने को नहीं मिलते लेकिन जब ये हमारी  यूरिनरी ट्रैक्ट में आकर मिलते हैं तो इनका दर्द होना शुरू हो जाता है।

kidney stone

गुर्दे में बन्ने वाली पथरी का आकर भी अलग अलग होता है, कुछ आकर में बड़ी होती हैं और कुछ रेट के दाने के बराबर जिनको आसानी से दवाओं के जरिये मूत्र के रास्ते बहार निकला जा सकता है।सबसे ज्यादा दिक्कत बड़े आकर की पथरी में होती है क्योंकि वो पेशाब के रस्ते बहार नहीं आती और इससे पेशाब करने में तकलीफ होती है और असहनीय दर्द भी सहन करना पड़ता है।

डॉक्टरों के अनुशार ऐसा माना गया है के पथरी हमारे खराब खानपान के कारण होती है, और जिनको ये एक बार हो जाती है उन्हें डॉक्टर कच्चा मांस, आर्गेनिक मीट और मछली आदि ना खाने की सलाह दी जाती है ताकि ये दोबारा न हो। उन्हें कहने में ज्यादा से ज्यादा फलों का सेवन, हरी सब्जियां खाने की सलाह दी जाती है जिससे यूरिन एसिड कम बनता है और किडनी स्टोन कम होने की सम्भावना भी कम हो जाती है।

Table of Contents

अब बात आती है के हम गुर्दे की पथरी(Kidney Stone) के लक्षणों की पहचान कैसे करेंगे?

तो चलिए बात करते हैं कुछ लक्षणों के बारे में:

बार बार पेशाब आना और पेशाब करते समय दर्द होना:

ये पथरी का सबसे शुरुवात लक्षण है, इसमें मरीज को पेशाब करते समय दर्द होना शुरू हो जाता है और इसके साथ मरीज को बार बार पेशाब भी आता है।ये गुर्दे की पथरी के सबसे शुरुवाती लक्षणों में से एक हैं और यह से मरीज को किसी नजदीकी डॉक्टर के पास जाकर टेस्ट करवाने चाहिए क्योंकि अगर आप इसे अनदेखा करंगे तो बाद में दिक्कत का सामना आपको ही करना पड़ेगा।

कमर और पेट के नीचे के हिस्से में दर्द रहना:

अगर आपको आपकी कमर और पेट के नीचे के हिस्से में एक दम तेज दर्द होता है तो ये आपको गुर्दे की पथरी होने का संकेत देता है, ऐसा माना गया है के पथरी के लक्षण उसके दर्द होने की जगह से ही पता लग जाते हैं।पथरी का दर्द बहुत बार पेट की तरफ से कमर की तरफ भी जाता है, जो किडनी की पथरी होने का एक प्रमुख कारण है।

pathri-ke-desi-ilaj

मूत्र में खून आना:

बहुत बार हम इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं देते के पेशाब करते समय हमें कोई दिक्कत तो नही हो रही है, बहुतबार ऐसा हो जाता है के आपको पेशाब करते समय खून भी आ जाता जाता है। अगर आपके साथ ऐसा हो रहा है तो आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए। इसके अलावा जब आप पेशाब करते हैं तो आपको तेज जलन, तेज दुर्गन्ध वाला पेशाब आना भी किडनी स्टोन के लक्षणों में से एक हैं।

पेशाब में छोटे टुकड़े आना:

पेशाब करते समय कई बार छोटे छोटे स्टोन के टुकड़े आना भी पथरी का एक प्रमुख लक्षण है और समय रहते आपको किसी नजदीकी डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए हो सकता है आपको और भी ज्यादा बड़े आकार में पथरी हो और आपको पता ही न हो।

KidneyStone ke desi ghrelu ilaj

मिचली या उलतो टी आना:

बहुत बार ऐसा देखा गया है के यूटीआई के कारण से जो स्टोन होता है उसमें  कई बार मरीज को मिचली और उल्टी आने लग जाती है। कई बार मरीज को इसके कारण बुखार की भी शिकायत देखने को मिली है।

हाइपरयूरिया (Hyperuria) :

इसके कारण मरीज को बार बार पेशाब आता है और मूत्र नली में फसने के कारण इससे थोडा थोडा दर्द भी होना शुरू हो जाता है, ये लक्षण पथरी के शुरुवाती लक्षण में से एक है।

पेट में तेज दर्द होना:

अगर आपको हर रोज पेट में तेज दर्द होता है और वो दर्द पेट से कमर की तरफ जाता है और ये दर्द केवल कुछ ही समय के लोए होता है तो आपको जल्द से जल्द डॉक्टर के पास जाना होगा क्योंकि ये पथरी से होने वाला दर्द है और हो सकता है ये दर्द आपको और तकलीफ दे। ये दर्द इतना तेज होता है के मरीज को उठने बैठने तक में दिक्कत आती है।

pathri ke ghrelu nuskhe

पथरी के इलाज के कुछ बेहतरीन और घरेलू नुस्खे:

इसमें सबसे पहले क्रम में आता है पानी:

दोस्तों डॉक्टरों के के अनुशार अगर पानी पर्याप्त मात्रा  में पीया जाए तो ये स्टोन को किडनी में जमा  से रोकता है और इसे पेशाब के जरिये बाहर निकालता रहता है। इसके साथ जब हम पर्याप्त मात्रा में पानी पीते रहते है तो हमारा यूरिन भी साफ़ रहता है।इसके अलावा मरीज को एक बार पथरी होने के बाद दोबारा पथरी होने की सम्भावना बढ़ जाती है तो इससे बचने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना आवश्यक है।

paani peete rhna pathri mein

पथरी को पिघलाकर बाहर निकल देगा सेब का सिरका:

सेब के सिरके में बहुत सारे ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो पथरी को पिघलाने में मदद करते हैं और छोटी प्रकार की पथरी को पिघलाकर पेशाब के रास्ते बाहर निकालने का काम करता है। इसके इसके साथ ही सेब का सिरका हमारे खून को भी साफ़ करने में मदद करता है। सेब के सिरके से पथरी को बाहर निकालने के लिए आपको एक कप गर्म पानी में 2 चम्मच सेब का सिरका और 1 चम्मच शहद मिलाकर दिन में 2 बार पिएँ, ऐसा 1 हफ्ते लगातार करने से आपकी पथरी पेशाब के रस्ते पिघलकर बाहर आ जाएगी।

seb ka sirka pathri ke ilaj

अनार करता है दवा की तरह काम:

देसी अनार में अस्ट्रीजेंट की प्रॉपर्टी पाई जाती है जो पथरी को ठीक करने में मदद करता है लेकिन कई बार ऐसा भी देखा गया है के डॉक्टर अनार के दाने खाने से मना करते हैं।आप इसके बजाए अनार का जूस पी सकते है।इसके लिए आपको हर रोज कम से कम एक गिलास अनार का जूस पीना होगा।आप अनार के बीजों को सुखाकर उनको पीसकर इसका पाउडर बना लें। इसके बाद चने की दाल के पानी के साथ इस पाउडर को मिलाकर पी लें। ऐसा आपको कई दिन तक लगातार करना होगा इससे आपकी पथरी में काफी आराम होगा।

नींबू रस, ऑलिव ऑयल और कच्चे सेब का सिरका दिलाए पथरी में आराम:

दरअसल नीम्बू को प्राचीन काल से ही पथरी के ईलाज के लिए इस्तेमाल में लाया जाता रहा है और ये पथरी के इलाज में काफी कारगर भी शाबित होता है। मिश्रण को पथरी के दर्द को ठीक करने के लिए सबसे कारगर माना गया है और ये मिश्रण पथरी को गलाकर बाहर निकालने का भी काम बखूबी करता है।इसके लिए आपको इन तीनो को मिलाकर पीना है और उसके थोड़ी देर बाद 1 गिलास पानी पीना है और फिर इसके थोड़ी देर बाद फिरसे थोडा निम्बू को पानी के साथ मिलाकर पी लें। ऐसा तब तक करें जब तक आपको आराम नहीं मिलता।

बिछुवा पत्ती (Nettle Leaf) का इस्तेमाल पथरी के इलाज में:

बिछुवा पत्ती का पाउडर या फिर इससे बनी चाय आपको बाजार में आसानी से उपलब्ध हो जाएगी।दरअसल बिछुवा पत्ती हमारे शरीर में एक नेचुरल तरीके से डाईयुरेटिक का काम करती है और हमारे गुर्दे के अन्दर बैक्टीरिया को खत्म करती है और पानी के प्रवाह को भी ठीक करती है जिससे के पथरी के ठीक होने में काफी मदद मिलती है और दर्द भी कम हो जाता है। इसके लिए आपको 2 चम्मच बिछुवा पत्ती का पाउडर लेकर उसे एक कप गुनगुने पानी में मिला लें और और इसके बाद इसे थोड़ी देर तक उबाल लें इसके बाद इसे छानकर पी लें। ये चाय आपको दिन में कम से कम 2 बार पीनी चाहिए।

nettle leaf in kidney stone

तुलसी निकाले पथरी को मूत्र के रास्ते बाहर:

दरअसल तुलसी को आयुर्वेद में एक सबसे बढ़िया औषधि के रूप में माना गया है ये न केवल हमारे शरीर को रोगों से लड़ने की क्षमता देती है बल्कि पथरी जैसे रोग को भी जड़ से खत्म करती है।इसके लिए आपको हर रोज सुबह खाली पेट तुलसी के पत्तों का रस निकालकर उसमें थोडा शहद मिलाकर पीने से धीरे धीरे आपकी पथरी मूत्र के जरिए बाहर आ जाएगी।आप रोज सुबह तुलसी के पत्ते भी चबा सकते हैं।तुलसी के पत्तों का सेवन वैसे भी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है।

उवा उर्सी (Uva Ursi) दिलाए पथरी से निजात:

उवा उर्सी गुर्दे की पथरी से निजात दिलाने का एक काफी पुराना घरेलू उपाय है। यह गुर्दे में होने वाले इन्फेक्शन को कम कर देता है और दर्द से आराम दिलाता है। दिन में तीन बार इसकी 500 मिलीग्राम मात्रा का सेवन करें।

डैंडलियन रूट (Dandelion Root) करे पथरी का सफाया:

नेचुरल डैंडलियन रूट हमारे गुर्दे की सफाई और उसे सही ढंग से काम करने में मदद करती है।इसके साथ साथ ये पथरी के कारण होने वाले दर्द से भी निजात दिलाने का काम करता है।जल्द पथरी से निजात पाने के लिए दिन में दो बार 500 मिलीग्राम में इसका सेवन कर लें।

Dandelion_Root for kidney stone

राजमा(Kidney Beans):

जैसा की नाम से ही पता चल रहा है इसे हम किडनी बीन्स के नाम से भी जानते हैं और इसका कारण यही है के किडनी में ये बहुत सारे लाभ पहुचती है, और सबसे खासकर तो किडनी स्टोन को ठीक करने में ये काफी असरदार है।इसमें आपको मैग्नीशियम काफी मात्रा में मिलता है जिससे ये किडनी स्टोन को कम करने में मदद करती है। इसके लिए आपको राजना को कुछ घंटों के लिए पानी में भिगोकर रखना होगा और उसके बाद इसे निकालकर उबाल लें और ठंडा होने के बाद एक कपडे से छानकर इसका सेवन करें।

अगर इन सब के बाद भी आपको पथरी में आराम नहीं मिल रहा है तो दोस्तों आप दवाइयों का सहारा ले सकते हैं और फिर भी नहीं हो रहा है तो आपको हो सकता है आपको ऑपरेशन भी करवाना पड़ जाए।

तो ये था दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल, अगर पसंद आया होतो शेयर जरुर करना।

Amit Shrivastava
 

हैल्लो, मेरा नाम अमित अम्बरीष श्रीवास्तव है। मैं एक लेखक और एक ब्लॉगर हॅू और मुझे रचनात्मक लेखक बहुत पसंद है। मैंने 2013 में अपनी ब्लॉगिंग करियर की शुरूआत की थी, और कभी पीछे नहीं देखा। य​ह ब्लाग मैने स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती से सम्बन्धित अपने विचार साझा करने के लिये बनाया है और मुझे आशा है कि आपको इसका कॉंटेंट पसंद आयेगा।

Click Here to Leave a Comment Below 0 comments

Leave a Reply:

CommentLuv badge