योगासन कैसे करें -How To Do Yoga In Hindi

आजकल की इस भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में हर कोई अपने अपने काम में व्यस्त है लेकिन किसी को अपनी सेहत की कोई चिंता नही है। लोग कहीं भी किसी भी जगह पर कुछ भी खाने लग जाते है लेकिन उनको यह नही पता होता की क्या चीज़ खाने की है और क्या नही है।

गलत खान पान के कारण लोग आज कल बहुत बीमार हो रहे हैं और इसके साथ ही उनकी बड़ी बड़ी तोंद भी बाहर आ रही है। आजकल लोग पैसे कमाने के चक्कर में अपने शरीर का भी ध्यान नहीं रख रहे हैं।

आज हम आपको इस आर्टिकल में योग करने की कुछ ऐसी विधि बताने जा रहे हैं जो आप घर बैठे भी कर सकते हैं और अपनी सेहत का भी अच्छे से ध्यान रख सकते हैं।

how to do yoga

Table of Contents

घर पर योग करने की 9 युक्तियाँ: 

आज के इस आर्टिकल में हम आपको कुछ ऐसी युक्तियों के बारे में बताने जा रहे जिनको की आप बड़े ही आसानी से घर बेठे भी कर सकते है। तो चलिए जानते है कुछ योग की युक्तियों के बारे में।

तो चलिए विस्तार से जानते है इन पॉइंट्स के बारे में :

योग करने के लिए सुविधाजनक स्थान का चयन करें

यह हमेशा से ही एक सबसे अच्छा है की आप अपने घर में योगाभ्यास के लिए एक छोटा और निजी कमरा चुनें क्यूंकि कुछ समय योग करने के बाद वहाँ पर योगाभ्यास करने से सकारात्मक उर्जा उत्पन्न होने लग जाती है जो की आपके परिवार को प्रसन्नता, आराम और शक्ति देती है। अगर कभी भी यह चीज़ संभव न हो तो आप अपने घर में कोई भी शांतिपूर्ण स्थान को चुने जो की इतना बड़ा हो सके की वह अपना योग मैट यनी की चादर को बिलकुल आसानी से बीचा सके ताकि आपके अभ्यास में किसी भी प्रकार की कोई भी रुकावट ना आ सके।

place of doing yoga

इसके साथ साथ आपको यह भी ध्यान रखना है की जिस स्थान पर आप योग कर रहे है वहाँ पर साफ़ तथा हवादार हो और वहाँ किसी भी प्रकार की नुकीली और फर्नीचर न हों।

योगाभ्यास के दौरान साधारण कपडे ही पहने

आपको बता दें की आपको योगाभ्यास के दौरान हल्के व बिलकुल आरामदायक कपडे पहनने चहिये ताकि आपको किसी भी तरह की कोई परेशानी ना हो क्यूंकि तंग कपड़ो में आप सुविधाज़नक नही होते है और इससे आपका योग भी सही तरह से नही हो पाता है।

best clothes of doing yoga

दृढ़ बने रहे

आप अपने योगाभ्यास पे नियमित रहे और उसको धीरे-धीरे अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना लें क्यूंकि अगर योग एक बार आपकी दिनचर्या का हिस्सा बन गई तो यह बाद में आपकी आदत बन जाएगी और यह आपके लिए बहुत ही अच्छा रहेगा।

आपको बता दें की एक वरिष्ट योग श्री श्री शिक्षक सही कृष्णा वर्मा जी ने कहा है की अगर आप ” 20 मिनट तक आप प्रत्येक दिन योगा करते है और हो सके तो अगर आप 2 घंटे से ज्यादा करते है तो ऐसे में यह आपको जल्द ही सकारात्मक परिणाम देने लगता है।

keep calm while doing yoga

हमेशा योगाभ्यास को खाली पेट ही करें

आपको योगा आसन तब ही अच्छे होंगे जब आप उन्हें हल्के पेट या फिर अगर हो सके तो उनको खली पेट करें क्यूंकि अगर आप भर पेट योगा आसन करते है तो ऐसे में ये आपको कभी भी वो लाभ नही दे पाएंगे। लेकिन अगर आप चाहे तो आप भोजन के 2 या 3 घनते बाद भी योगाभ्यास को कर सकते है।

khali pet yoga

अपने योग में हमेशा अलग-अलग तकनीके शामिल करें

आपको कभी भी एक जैसे योगाभ्यास नही करने चाहिए बल्कि इसके बजाय आपको हमेशा अलग-अलग योगासनों का प्रयास करना चाहिए। यदि आपके पास समयाभाव है तो ऐसे में आप हर एक दिन कुछ निश्चित अलग-अलग योगाभ्यास कर सकते है।

अगर आप अपने सरे योग को केवल रविवार को करेंगे तो यह आपके लिए बहुत अच्छा रहेगा। आप साथ ही साथ यह भी निश्चित करें की आप योगाभ्यास के साथ योग निंद्रा भी लेंगे।

योग करने के लिए अपना सुविधाजनक समय ही चुने

क्या आपको पता है की सुबह के समय जिया हुआ योगाभ्यास सबसे अच्छा होते है और अगर आप सुबह-सुबह योगाभ्यास करते है तो यह आपको पुरे दिन भर उर्जा से भरपूर रखता है लेकिन अगर किसी कारणवश ऐसा नही होता है तो आपको योग को छोड़ने का बहाना नही बनाना चाहिए क्यूंकि इसके बजाय आपको योगाभ्यास के लिए एक सुविधाजनक समय का चयन करें।

आप इसको सुबह देर से या फिर दिन में भोज से पहले और या तो आप इसको शाम को कर सकते है। अगर आप योगाभ्यास को रेगुलर करते है तो यह आपको हमेशा ताजगी से भरा रखता है और आपको किसी भी प्रकार का तनाव नही होने देता है।

यह आपका शरीर है योग करते वक़्त इसका ध्यान रखें

आपने सुना भी होगा की आपके पास दुनिया की सबसे एकलौती चीज़ है और वो है आपका शरीर तो ऐसे में आपको इसका बहुत ध्यान रखना चाहिए।

आप अपने शरीर को हमेशा सम्मान दें और हमेशा ही योगा को एक सुन्दर सी मुस्कान के साथ करें। आपको अपने शरीर का ध्यान रखते हुए ही अपनी योग करने की गति को बढ़ाना चाहिए क्यूंकि अगर आप अपना योगाभ्यास तेज़ गति से करते है तो ऐसे में आपके शरीर को तकलीफ हो सकती है और यह आपको दर्द भी दे सकता है।

योग करने से पूर्व अपने शरीर में गर्मी पैदा करने के लिए कुछ व्यायाम करें

आपको बता दें की हमेशा ही योगासन से पहले अपने शरीर को हल्का-फुल्का मटका लें यनि की अपने शरीर में कुछ व्यायाम करकर लचीलापन लें आएं जिससे की बाद में आपकी मश्पेशियों में किसी भी तरह का कोई भी तनाव उत्पन्न न हो।

योग को अपने परिवार का एक मनोरंजक समय बना लें

यदि आप अकेले में योगाभ्यास करते है तो ऐसे में आप अपने आप को आलस्य में पाते है और बिलकुल भी अच्छा महसूस नही करते है तो ऐसे में आपको यह प्रयास करना चाहिए की आप अभ्यास को अपने परिवार या फिर अपने दोस्तों के साथ करें और फिर बाद में अंतर देखें।

आपको बता दें की घर में किया हुआ योगाभ्यास पुरे परिवार को एक साथ लेकर आता है।

आपको यह ध्यान में होना चाहिए की योगाभ्यास में केवल और केवल योगासन नही होते है बल्कि इसमें अतिरिक्त सुदर्शन क्रिया, ध्यान और प्राणायाम आती हो जो की आप आसानी से किसी भी हैप्पीनेस प्रोग्राम में भी सीख सकते है।

इसके अलावा आप नीचे दी गयी वीडीयो भी देख सकते हैं जिसमें बताया गया है कि योगासन कारने से पहले आपको क्या क्या तैयारी करनी चाहिए।

शुरुआत में करें यह 12 योगासन:

आपको बात दें की बहुत सारे ऐसे लोग है जो की योग करना चाहते है लेकिन उनको यह समझ नही आता है की कौन-सा आसन शुरुआत में करना चाहिए और कौन-सा  नही।

तो अब घबराने की कोई बात नही है क्यूंकि आज के इस आर्टिकल में हम आपके लिए आपकी समस्या का हल लेकर आएं है और हम आपको ऐसे 12 आसनों के बारे में बताने जा रहे है जो की आपको शुरुआत में करने चाहिए।

सुखासन योग

–> सुखासन को कैसे करें :

  • सुखासन को करने के लिए सबसे पहले आपको फर्श पर एक दरी बिछानी है और अपने दोनों पैरो को मोड़ कर बैठ जाना है।
  • आपको अपने पैरो को कुछ इस तरीके से मोड़ कर बैठना है की एक पैर का निचला हिस्सा बहार की और हों और दूसरा हिस्सा अगले पैर की जांघो के निचे हों।
  • उसके बाद आपको दरी पर सीधा बैठना है और अपने रीड की हड्डी को सीधा करके बैठना है।
  • आपको अपने दोनों हाथो की हथेलिओं को ऊपर करना है और अपने घुटनों पर रखना है और ज्ञान की मुद्रा को धारण करके बैठना है।
  • फिर इसके बाद आपको धीरे-धीरे सांस को अपने अन्दर लेना है और फिर धीरे-धीरे उसको बहार छोड़ना है।

–> सुखासन करने के फ़ायदे :

  • सुखासन करने से आपकी रीद्की हड्डी में खिचाव आता है, जो की आपकी रीड की हड्डी को लम्बा होने में काफी मदद करता है।
  • सुखासन आपकी छाती की चौड़ाई को बढाता है।
  • सुखासन को करने से आपके मन को शांति प्राप्त होती है।
  • उखासन को करने से आपके शरीर से तनाव, चिंता और मानसिक थकान से जुड़े हुए रोग दूर होते है।

वृक्षासन योगा

–> वृक्षासन को कैसे करें :

  • सबसे पहले आपको अपने दोनों हाथों को बगल में रखकर सीधे खड़े होना है।
  • उसके बाद आपको बड़े ही ध्यान से आपने दाएने पैर को अपने बाएँ पैर के जांघो पर रखकर सीधे खड़े होना है अगर आपको समझ नही आ रहा हो तो आप फोटो में देखें।
  • उसके बाद आपको धीरे-धीरे दोनों हाथों को जोडकर ऊपर की और लेकर जाना है और प्राथना की मुद्रा को धारण करना है।
  • फिर आपको कम से कम 30 से ४५ सेकंड तक इसी मुद्रा में बैलेंस करने की कोशिश करनी है।

–> वृक्षासन योगा के फ़ायदे :

  • वृक्षासन योगा को करने से आपके संतुलन में सुधर आता है।
  • वृक्षासन जांघो, रीड की हड्डी और पैरो को मजबूत बनता है।

त्रिकोणासन योगा

–> त्रिकोणासन को कैसे करें :

  • इसमें सबसे पहले आपको सीधा खड़ा होना है और अपने दोनों पैरो के बीच में थोडा से गैप रखना है।
  • उसके बाद में आपको अपने दाएं पैर को 90 डिग्री में मोड़ना है।
  • उसके बाद आपको थोडा सा शरीर को दाएं तरफ झुकाना है और अपने दाएं हाथ को अपने दाएं पैर की उँगलियों को चुना है और बाएँ हाथ को ऊपर की और और सीधी में रखना है लेकिन अगर आपको समझ नही आ रहा है तो आप ऊपर फोटो में देख सकते है।
  • फिर आपको इस मुद्रा में 1-2 मिनट तक रुकना है।

–> त्रिकोणासन योग के फ़ायदे :

  • वृक्षासन करने से आपके पुरे शरीर को खिचाव मिलता है।
  • वृक्षासन से आपकी गुर्दा/किडनी भी स्वस्थ रहती है।
  • वृक्षासन आपके रक्त परिसंचरण/सर्कुलेशन में भी सुधर लेकर आता है।

भुजंगासन योगा

–> भुजंगासन योगा को कैसे करें :

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले आपको पेट के बल नीचे दरी पर लेटना है।
  • उसके बाद आपको एक लम्बी सी सांस लेनी है और अपने शरीर के उपरी भाग को जैसे की सर, गर्दन, छाती और कंधो को ऊपर की तरफ लेकर जाना है जैसा की ऊपर फोटो में दिखाया गया है।
  • फिर आपको इसी मुद्रा में 20 से 30 सेकंड्स तक रुकना है।
  • इसके बाद आपको दोबारा 4 से 5 बार इस आसन को दोहराना है।

–> भुजंगासन योगा के फ़ायदे :

  • यह आसन आपके पेट की एसिडिटी और गैस की प्रॉब्लम को दूर करता है।
  • यह आसन आपके मोटापे को भी दूर करता है।
  • इस आसन से आपका रक्त परिसंचरण भी सही तरीके से होता है।
  • इस आसन से आपकी अपच और कब्जी की शिकायत भी दूर हो जाती है।

बालासन योगा

–> बालासन योगा को कैसे करें :

  • इसमें सबसे पहले आपको अपने पैरो को पीछे की और करना है और उनको मोड़ लेना है जैसा की ऊपर चित्र में दिखाया गया है और फिर अपने दोनों हाथों को अपनी जांघो पर रखकर सीधे बैठना है।
  • उसके बाद आपको धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए अपनी छाती को घुटनों से जोड़ना है।
  • उसके बाद आपको अपने दोनों हाथो को आगे की तरफ रखना है आप अपने हाथों को सीधे भी रख सकते है और पीछे भी।
  • फिर आपको ध्यान से धीरे-धीरे सांस लेनी है और उस मुद्रा में कम से कम 2-3 मिनट तक रुकना है।
  • इस योगा को आपको कम से कम 5-10 बार दोहराना है।

–> बालासन योग्गा करने के फ़ायदे :

  • बालासन योगा को करने से आपका मानसिक चिंतन दूर होता है।
  • बालासन योग करने से आपकी कमर का दर्द भी दूर हो जाता है।

 

अधोमुखश्वानासन योगा

–> अधोमुखश्वानासन योगा को कैसे करें :

  • सबसे पहले आपको अपने दोनों पैरो पर खड़े होना है और दोनों पैरो के बीच में थोड़ी सी दुरी रखनी है।
  • उसके बाद आपको धीरे से नीचे की ओर मुड़ना है जिससे की आप V जैसी शेप में बन जाएगी।
  • जैसा का की आप ऊपर फोटो में दीख सकते है की दोनों हाथो और पैरो के बीच में थोड़ी सी दुरी बनानी है।
  • आपको साँस लेते वक़्त अपने पैरो की उँगलियों की मदद से अपने कमर को पीछे की ओर खीचना है और ये ध्यान एअखना है की आप अपने पैर और हाथों को न मोडें।
  • ऐसा करने से आपके शरीर के पीछे हाथों और पैरों को अच्छा खिचाव मिलेगा।
  • फिर आपको एक लम्बी सी सांस लेनी है और कुछ देर के लिए इसी पोज़ में आपको रुकना है।

–> अधोमुखश्वानासन योगा करने के फ़ायदे :

  • इस योगासन को करने से आपकी मश्पशियों में बहुत मजबूती आती है।
  • इससे आपकी शरीर में साइनस की समस्या भी दूर हो जाती है।
  • इससे आपके शरीर को भी अच्छा खिचाव मिलता है।
  • इससे आपके शरीर में रक्त परिसंचरण में भी काफी सुधार आता है।

शवासन योगा

–>  शवासन योगा को कैसे करें :

  • आपको बता दें की यह एक बहुत ही आसान योग मुद्रा है लेकिन इससे आपके शरीर को बहुत ज्यादा लाभ होते है।
  • इसको करने से पहले एक समतल जगह पर एक दरी बीचा लें।
  • उसके बाद उसके ऊपर की ओर मुँह करके  लेट जाएं।
  • आपने दोनो पैरो को एक दुसरे से बिलकुल अलग करके रखें।
  • उसके बाद आप कुछ मिनटों के लिए धीरे-धीरे सांस को अन्दर लें और बहार छोड़ दें।

–> शवासन योगा करने के फ़ायदे :

  • शवासन करने से आपके शरीर को बहुत आराम मिलता है।
  • शवासन करने से आपके ध्यान/ एकाग्रता में भी सुधर आता है।

सेतुबंधासन योगा

–> सेतुबंधासन योगा कैसे करें :

  • इस योग मुद्रा में आपको अपने शरीर को एक पुल के आकार में ढालना पड़ता है यनि की आपने शरीर को एक पुल के जैसा बनाना पड़ता है।
  • इसको करने के लिए सबसे पहले आप ज़मीन पर लेट जाएं और फिर अपनी बाह को दोनों तरफ खोल लें।
  • उसके बाद आपको अपने नीचे वाले हिस्से को उठाना है जैसा की ऊपर की फोटो में दिखाया गया है।
  • आपको उसी मुद्रा में एक लम्बी सी सांस लेनी है और लगभग 25 से 30 सेकंड तक रुकना है।
  • उसके बाद आपको धीरे-धीरे अपने शरीर को नीचे की ओर ला कर प्रथम मुद्रा पर लेकर आना है।
  • आपको इस योगासन को कम से कम 4 से 5 बार तक दोहराना है।

–> सेतुबंधासन योगा के फ़ायदे :

  • यह योग आसन आपकी छाती को मजबूत बना देता है।
  • इस आसन को करने से आपकी रीड की हड्डी भी तंदुरस्त बन जाती है।
  • इसको करने से आपके मन की चिंता भी दूर हो जाती है।

बद्ध कोणासन योगा

–> बद्ध कोणासन योगा इस तरीके से किया जाता है:

  • ये योग आसन करने के लिए आपको पहले कोई एक दरी या फिर योगा मैट लेना होगा।इसके बाद उसे ज़मीन पर बिछाकर उसपर सीधे होकर बेठना होगा।
  • इसके बाद आपको अपने दोनों पैरो के निचले हिस्से को एक दुसरे के सामने लाकर जोड़ना है।
  • अब उपर विडियो में दिखाए गए अनुशार अपने पैरों के जुड़े हुए हिस्से को नीचे से पकड़ने की कोशिश करनी है।
  • इसके बाद आपको अपने पैरों को तितली के पंखो के जैसे उपर नीचे करना होगा।
  • कुछ दिन करने के बाद आप इस आसन को तेज़ गति से भी कर सकते है, जल्दबाजी नहीं करनी है आपको बस आराम से करना है।

–> बद्ध कोणासन योगा से होने वाले फ़ायदे :

  • जानकारी के लिए बता दें की बद्ध कोणासन योग को करने से आपके पेट के भीतरी अंगो को उर्जा मिलती है।
  • बद्ध कोणासन योग आपकी किडनी की होने वाली किसी भी प्रकार की बीमारी से दूर रखता है।

वीरभद्रासन योगा

–> वीरभद्रासन योगा को कैसे किया जाता है :

  • ये आसन करने के लिए सबसे आप पहले सीधे खड़े हो।
  • इसके बाद अपने दोनों पैरो के बीच 3 से 4 फूट की दूरी पर रखें।
  • एक लम्बी सांस लें और अपने दोनों हाथो को ज़मीन के समान्तर में ऊपर की तरफ उठा ले इसके बाद अपने सिर को दाईं और मोडें।
  • उसके बाद अपनी सांस को धीरे-धीरे छोड़ते हुए अपने दाएं पैर को 90 डिग्री के कोण में और थोडा सा दाहिने हाथ की तरफ मोडें।
  • अपने पैर को मोड़ने के तरीके को सही से समझने के लिए ऊपर दी गयी विडियो को ध्यान से देखें।
  • उसके बाद में आपको इसी स्थिति में कुछ देर के लिए रुकना होगा।
  • ये योग आसन आपको कम से कम 5 से 6 बार करना होगा।

–> वीरभद्रासन योगा को करने से होने वाले फ़ायदे :

  • दोस्तों अगर आप वीरभद्रासन योगा को हर रोज कर रहे है तो इससे आपके पैरों और बाजुओं को शक्ति मिलती है।
  •  वीरभद्रासन योगा करने से आपके शरीर के निचले हिस्से की मांसपेशियाँ स्वास्थ रहती हैं।

ताड़ासन योगा

–> ताड़ासन योगा को कैसे किया जाता है :

  • ये आसन करने के लिए आपको सबसे  पहले अपने पैरो की मदद से सीधे खड़े होना होगा।
  • इसके बाद आपको अपने पैरों के बीच थोड़ी-सी जगह बनानी पड़ेगी।
  • इसके बाद आप एक लम्बी सी सांस ले और अपने पैरों की उँगलियों की मदद से अपने शरीर को थोडा सा ऊपर उठाएं और अपने दोनों हाथो को धीरे-धीरे ऊपर की और करें। इसके बाद आपने अपने दोनों हाथो की उँगलियों को आपस में जोड़ना होगा।
  • इसके बाद आपको कम से कम 15 से 30 सेकंड्स तक इसी अवस्था में ही रहना होगा और फिर अपने शरीर को ऊपर की ओर खीचना है।
  • इसके बाद आपको धीरे-धीरे अपने हाथों से अपने शरीर को पहले की जैसे सामान्य अवस्था में लेकर आना है। ऐसा आप 4 से 5 बार थोडा थोडा समय का अंतराल देकर कर सकते हैं।

–> ताड़ासन योगा से होने वाले फ़ायदे :

  • ये आसन उन सब लोगों के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है जिनकी लम्बाई कम होती है और वो अपनी लम्बाई को बढ़ाना चाहते हो।
  • इस आसन से शरीर की खड़े होने की मुद्रा में भी सुधार आता है।
  • ताड़ासन आसन करने से आपकी रीड की हड्डी की समस्या भी दूर हो सकती है।

अर्धमत्स्येन्द्रासन योगा

–> अर्धमत्स्येन्द्रासन को सही तरीके से कैसे करें :

  • इसके लिए आप सबसे पहले नीचे योगा मैट पर बैठ जाएँ।
  • इसके बाद आपको अपने बाएँ पैर को मोड़ना है और अपनी पीठ को दाहिने तरफ से छुने की कोशिश करें।
  • इसके बाद आपको अपने दाएँ पैर को अपने बाएँ पैर से अगली तरफ लेकर जाएं और यह बात ध्यान रहे की आपका दायाँ पैर आगे की तरफ ज़मीन को छुना चाहिए।
  • इसके बाद आपको अपने पैर को मुड़ी हुई दिशा के विपरीत दिशा में ताने यानि की उसको विपरीत दिशा में खीचें और फिर अगले तरफ पैर को पीछे से छूने की कोशिश करें।
  •  इस मुद्रा में कम से कम 20 से 30 सेकंड्स के लिए रुकना होगा और उसके बाद अगली दिशा में भी इस योगासन को दोहराएँ।

–> अर्धमत्स्येन्द्रासन योगा करने से होने वाले फायदे :

  • ये आसन आपकी मांशपेशियों में बहुत अच्छा खिंचाव पैदा करता है।
  • इस आसन से आपकी रीड की हड्डी में लचीलेपन के साथ साथ मजबूती भी आती है।
  • इस आसान से आपके शरीर में रक्त का बहाव भी सही तरीके से होता है।
  • अगर आपको अपच और कब्ज़ है तो हर रोज ये योग करने से समस्या ठीक हो जाती है और उसको दोबारा होने से भी बचाता है।

योगा करने के कुछ साधारण से नियम जो आपके लिए जरुरी हैं : (Basic Rules Of Doing Yoga)

जानकारी के लिए बता दें की अगर आप योग का अच्छी तरह से लाभ उठाना चाहते है तो आपको योग के बारे में सही जानकारी होना भी बेहद जरुरी है। योगा में कुछ बहुत ही सरल से नियम होते है और अगर आप योग की  पूरी विधि को समझ जाते है तो आपको बता दें की योगा से आपको बहुत सारे ऐसे फ़ायदे मिलते है जिनकी आ कल्पना भी नहीं कर सकते । तो चलिए हम आपको बताते हैं की योग करने के क्या नियम हैं :

  • सबसे पहली और सबसे जरुरी नियम ये है के योगा हमेशा खुली हवा और साफ सुथरी जगह पर ही करनी चाहिए।
  • योग करने से 2 घंटे पहले थोडा बहुत खाना चाहिए और बात का तात्पर्य ये है के योग कभी भी खाली पेट नहीं करना चाहिए।
  • हमेशा योगा करते समय आपको नाक से साँस लेनी चाहिए और छोडनी मुँह से चाहिए।
  • आपको योगा करने से पहले और योगा करने के कुछ समय बाद तक किसी भी चीज़ का सेवन नही करना चाहिए।
  • योग करने के लिए हमेशा योग मैट या फिर किसी चद्दर का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • अगर किसी ग्रभव्ती महिला को योगा करनी है तो ऐसे में उनको किसी योगा गुरु की सलाह लेनी चाहिए।
  • देखा गया है के कई लोग ऐसे होते हैं जो योग का फायदा जल्दी उठाने के लिए योग जल्दी जल्दी और गलत तरीके से करते है ऐसे में उनका फायदा कम और नुकशान होने के चांस ज्यादा हो जाते हैं। हमेशा ध्यान रखें के योग को हमेशा धीरे धीरे और आराम से करें  ।
  • अगर कोई बीमार है या फिर किसी को बुखार है तो उसको उस हालत में योगा नही करनी चाहिए।
  • आपको योग करने के बैठने का सही तरीके मालूम होना बेहद ज़रूरी है।

 

योगा से होने वाले लाभ [ Benefits Of Doing Yogs ] :

  • अगर आप हर रोज़ योगा कर रहे है तो इससे आपका दिमाग तो तेज होता ही है और इसके साथ साथ आपका मन भी बिलकुल शांत रहता है।
  •  बता दें की योग करने से आपकी पाचन क्रिया बहुत अच्छी हो जाती है जिससे की आपको पेट की बहुत सारी बिमारियों से छुटकारा मिलता है।
  • बता दें की योगा करने से आपके चेहरे पर होने वाली झुरियां से भी छुटकारा मिलता है और उसके साथ ही साथ आपके बालो का भी झड़ना कम हो जाता है।
  • हर रोज़ योग करने से आपका शारीरिक विकाश के साथ साथ मानसिक विकास भी बहुत अच्छा हो जाता है।
  •  प्रतिदिन योग करने से आपका शरीर भी एक दम फिट और एक्टिव रहता है।
  • योग करने से हमारे शरीर में रोग पर्तिरोधक क्षमता बढती है और हमारे शरीर में होने वाली बहुत सी बिमारियों से लड़ने में मदद करता है।
  • जानकारी के लिए आपको बता दें की योग करने से शरीर के प्रत्येक अंग को फायदा मिलता है और योगा करने से आपकी आँखों की शक्ति भी बढ जाती है।
  • योग करने से आपके शरीर का ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर बना रहता है जिससे की ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर जैसी बिमारियों को फायदा पहुँचता है।
  • योगा करने से हमारे शरीर में लचीलापन आ जाता है जिससे की हमे दर्द होना भी कम हो जाता है।
  • रोजाना योग करने से हमारा शरीर सुडोल बन जाता है और हमारी मश्पेशियाँ भी मजबूत होने लगती है।

योगा करने के नुकसान : (Cons Of Doing Yoga)

आजकल बहुत सारे लोग ऐसी अफवाह फेला रहे है की योग करने के बहुत सारे नुकसान होते है,  आदमी के शरीर में कमजोरी आ जाती है और बहुत सारे साइड इफ़ेक्ट होते है लेकिन हम आपको बता दें की योग करने के कुछ भी नुकसान नही होते है।

इस विषय में हमारे एक्सपर्ट का कहना है की आगर आप योगा को बिना कुछ सीखे करते है या फिर गलत तरीके से करते है तो इसके आपको नुकसान भी हो सकते है।

यदि आपको घुटने में दर्द या फिर कमर में दर्द की समस्या के इलाज की योगा करते है और आपको उनकी योगा करने का सही तरीका नही मालूम है तो यह आपके घुटने और कमर के लिए बहुत ही हानिकारक होगा।

अगर आपको योगासन नही आते है तो ऐसे में आप योगा खुद करने की बजाय किसी कोच या फिर किसी गुरु की सहायता ले तो उनसे आपको सही तरीके से योगा कैसा करते है सीखने को मिलेगा।

Amit Shrivastava
 

हैल्लो, मेरा नाम अमित अम्बरीष श्रीवास्तव है। मैं एक लेखक और एक ब्लॉगर हॅू और मुझे रचनात्मक लेखक बहुत पसंद है। मैंने 2013 में अपनी ब्लॉगिंग करियर की शुरूआत की थी, और कभी पीछे नहीं देखा। य​ह ब्लाग मैने स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती से सम्बन्धित अपने विचार साझा करने के लिये बनाया है और मुझे आशा है कि आपको इसका कॉंटेंट पसंद आयेगा।

Click Here to Leave a Comment Below 0 comments

Leave a Reply:

CommentLuv badge