8 शुगर के इलाज के घरेलु नुस्खे -How To Treat Diabetes In Hindi 

आपको बता दें की आज के इस समय में शुगर एक आम बीमारी बन गई है और यह इसीलिए हो गया है क्यूंकि हमारा हमारे खान-पान पर बिलकुल भी नियंत्रण नही है।

मधुमेह होने से आपके शारीर में शुगर की मात्रा बहुत ज्यादा बढ़ने लग जाती है और आगर आप समय पर इसका इलाज न कराएं तो यह आपकी जान भी ले सकती है।

आपको बता दें की दुनिया में आज तक शुगर को जड़ से खत्म करने वाला ऐसा कोई भी इलाज नही है लेकिन अगर आप शकर्रा को कण्ट्रोल में कर लेते है तो आप एक अच्छा और बेहतर जीवन जी सकते है।

आपको बता दें की डायबिटीज एक महामारी के रूप में फेलता जा रहा है और आज इस दुनिया में लगभग 50% लोग इस दुनिया में मधुमेह से परेशान है और इनमे से सबसे ज्यादा लोग भारत देश से है लेकिन आपको बता दें आजकल की दुनिया में इस बढ़ते हुए तनाव में और इस व्यस्त जीवनशेली में हमारा पैंक्रियास बहुत कम होता जा रहा है।

how to lower suger level

Table of Contents

शुगर को कैसे कम करें (How To Reduce Diabetes)

आपको बता दें की जो लोग डायबिटीज की समस्या से झुझ रहे है उनको तो मीठे से बिलकुल ही किनारा कर लेना चाहिए।

हाँ आप पपीते और सेब को खा सकते है लेकिन उनको आपने थोड़ी-थोड़ी मात्रा में खाना है इसके साथ साथ अगर आप चाहे तो आप जामुन और अमरुद जैसे फल भी इसके साथ ले सकते है।

आपको शुगर से बनी हुई चीजों का सेवन कम ही करना चाहिए और अगर हो सके तो आप शुगर से बनी हुई चीजों को अवॉयड करेंगे तो आपके लिए बेहतर रहेगा। आपको अभी से ही हर एक शुगर से बनी हुई चीजों से परहेज़ करना शुरू कर देना चाहिए।

आपको बता दें की शुगर में जो सीड्स होते है वो एकदम से आपके पेट में जाकर घुल जाते है बल्कि वो औरो के मुकाबले में घुलने में ज्यादा समय लेते नही लेते है मेरे कहने का मतलब यह है की मीठा आपके शारीर में तुरंत घुल जाता है और इसीलिए आपको उसके सेवन से बचना चाहिए और जितना हो सके उससे आपको बचना चाहिए।

आपको बता दें की शुगर को कण्ट्रोल करने में एकुप्रेशर बहुत ज्यादा मदद करता है। यह आपके बाए हाथ की हथेली में छोटी ऊँगली के नीचे यनि की आपकी बाएँ हाथ की छोटी ऊँगली को दबाने से आपको काफी लाभ पहुँचता है।

आपको बता दें की ऐसा करने से आपमें पैंक्रियास जागृत होगा और ऐसे में इससे आप शुगर की बीमारी से आसानी से बच सकते है। यह शुगर की बीमारी को कम करने में सबसे सरल तरीका है और आप कभी भी इसको कर सकते है।

अगर आप चाहे तो आप अपनी शुगर की बीमारी में मधुनाशनी का इस्तेमाल कर सकते है और ऐसे में आपको इसकी 2-2 गोलियां सुबह और शाम लेनी है।

आपको बता दें की यह पतंजली की शुगर दूर करने की एक आयुर्वेदिक दवा है। आपको बता दें की आप आसानी से अपने किसी भी नजदीकी पतंजली के स्टोर्स में पा सकते है।how to reduce sugar level

आपको बता दें की शुगर जैसी बीमारी को दूर करने का सबसे बेस्ट उपाय यह है की अप कम से कम 6 घनटे की नींद तो जरुर से जरुर लें क्यूंकि एक स्वस्थ व्यक्ति के लिए 6 घंटे की नींद तो बहुत जरुरी होती है।

आपको बता दें की अगर आप बाबा रामदेव द्वारा बताए गए आसन जैसे की कपालभाती और अन्लोम विलोम करते है तो इसे भी आप अपनी शुगर की बीमारी को आसानी से कम कर सकते है।

शुगर की बीमारी को ठीक करने के लिए आपको करेला, टमाटर और खीरे के जूस का सेवन करना चाहिए। एक करेला, एक टमाटर और एक खीरे को एक मिक्सचर में डालकर उसका जूस निकल लें और फिर उस जूस का सेवन कर लें।

आपको एक गिलास तो रोजाना पीना ही है लेकिन अगर आप चाहो तो आप इसको रोजाना सुबह शाम एक-एक गिलास इसका सेवन कर सकते है।

अगर आप इसको और असरकारी बनाना चाहते है तो आप ऐसे में इसमें सदाबहार के 7 फूल और नीम के 7 पत्तो को भी मिलकर इसको पी सकते है। अगर आप चाहे तो आप इनको बिला मिलिए भी खीरे, टमाटर और करेला के जूस का सेवन कर सकते है।

घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खो से करें डायबिटीज का इलाज

आंवला (Amla)

आपको बता दें की आप आंवले से भी आसानी से अपनी डायबिटीज की समस्या को दूर कर सकते है। सबसे पहले आपको 2 या 3 आंवले लेने है और फिर आपको उनके बीज को निकलकर और उनके बीज को पीसकर उनका एक पेस्ट बना लेना है।

फिर आपको एक अच्छे और साफ़ कपडे में इस पेस्ट को डालकर इसका रस निकल लेना है और इसमें 1 कप पानी मिलकर रोजाना इसका सेवन करना है अगर आप चाहे तो आप 1 कप करेले के जूस में भी आंवले के जूस के 1 या 2 चम्मच भी मिलकर इसको पी सकते है।

amla se sugar ka ilaj

एलोवेरा (Aloe vera)

आपको बता दें की एलोवेरा भी शुगर को रोकने में बहुत ज्यादा एफायती साबित होता है। अगर आप एलोवेरा का नियमित रूप से सेवन करते है तो ऐसे में कुछ ही दिनों में आपकी शुगर कण्ट्रोल में आने लगेगी।

इसको उपयोग में लाने के लिए आपको एलोवेरा के पत्तो को रातभर पानी में भिगोकर रख देना है और और फिर सुबह-सुबह खली पेट उस पानी का सेवन करना है।

आपको बता दें की आप एलोवेरा के पत्तो को चेलकर आप उसका रस भी निकल सकते है और आप चाहे तो एलोवेरा के पत्तो की सब्जी भी बना सकते है और यह आपकी सेहत के लिए बहुत अच्छी रहेगी।

aloe-vera se kare sugar ka ghrelu ilaj

मेथी के दानें (Fenugreek Seeds)

आपको बता दें की मेथी को भी शुगर को कण्ट्रोल करने में और रक्त शकरा के स्तर को भी सुधारने में काफी सहयोगी होता है।

आपको रात भर मेथी के दानो को पानी में भिगोकर रखना है और फिर सुबह उन बीजों को खली पेट चबा-चबा कर खाना है और पानी भी पीना है या फिर आप चाहे तो मेथी के दानो का पाउडर बनाकर उसको दूध के साथ लें।

methi ke daane se sugar ka ilaj

करेले (Bitter gourd)

आपको बता दें की करेला रक्त में शकर्रा के प्रभाव को भी कण्ट्रोल करने में सहायक होता है।

करेला दोनों तरह के मधुमेह के उपचारों के लिए फायदेमंद होता है और आपको बता दें की करेले के जूस को सुबह पीना बहुत ज्यादा लाभदायक होता है।

इसको उपयोग में लेन के लिए सबसे पहले आपको 2 या 3 करेले लेने है और फिर इसको अलग करके इसका रस निकल लेना है और फिर उसमे थोडा सा पानी डालकर उसका सेवन करना है।

इसके लिए आपको अपने भोजन में जितना हो सके उतना करेला शामिल करना है।

karela se diabeties ka ilaj

जामुन (Blackberry)

आपको बता दें की जामुन भी रक्त में शकर्रा के स्तर को कम करने में मदद करता है। जामुन के पत्ते और बीजों और बेर हर चीज शुगर का इलाज करने में प्रयोग की जाती है।

आपको जामुन के बीजों को पीस लेना है और और फिर उनको पानी के साथ 2 बार लना है। आम के पत्तो को शुगर को कम करने में बहुत एफायती माना जाता है।

इसको प्रयोग में लेन के लिए आपको 10 से 12 आम के पत्तो को रात भर एक गिलास पानी में भिगोकर रख देना है और फिर इसको सुबह-सुबह खली पेट पीना है।

इसके अलावा आप आम के पत्तो को छाया में रखकर, उनको सुखाकर पीस लेना है और रोजाना आधा चम्मच पाउडर दिन में 2 बार लें।

jamun-or-blackberry se sugar ka gharelu ilaj

दाल-चीनी (Cinnamon)

आपको बता दें की दाल-चीनी में रक्त में शकर्रा के स्तर को कम करने की ताकत होती है।

इसको उपयोग में लेन के लिए आपको हर रोज़ 1 कप पाउडर हलके गर्म पानी में 1 चम्मच दाल-चीनी पाउडर डालकर इसका हर रोज़ सेवन करना है या फिर आप एक कप पानी में 2 से 4 लटें दाल-चीनी को उबल लें और फिर थोड़ी-सी सेर उसको ठंडा होने के लिए छोड़ दें और फिर उसका सेवन करें।

daal chini se sugar ka ilaj

विजयसार (Vijasar)

आपको बता दें की विजयसार को न केवल आयुर्वेद में बल्कि आधुनिक चिकित्सा विज्ञान में भी डायबिटीज में भी बहुत ज्यादा उपयोगी मानता है।

इसको उपयोग में लेन के लिए एक विजयसार की लकड़ी से बने हुए गिलास में रात में पानी भर कर रख दिया जाता है और फिर उसे सुबह भूखे पेट इस पानी को पी लिया जाता है और विजयसार की इस लकड़ी में पाए जाने वाले इन तत्वों में जो रक्त है उसमें से इन्सुलिन के स्राव को बढ़ने के लिए सहायता करते है।

मधुमेह नाशक पाउडर (Diabetic powder)

आपको बता दें की इसके लिए एक गिलये, कुटकी, हरड, काली जीरी, गुडमार, बिलब पत्र, जामुन की गुठली, चिरायता, तेज़ पत्र, बहेड़ा नीम पत्र, आंवला एंव अन्य जड़ी बूटियों को एक निश्चित अनुपात में लेकर पाउडर बनाया जाता है जो की डायबिटीज के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद साबित होता है।

डायबिटीज होने के कारण (Reasons Of Diabetes)

आपको बता दें की शुगर की बीमारी के बारें में तो बहुत से लोग जानते है लेकिन बहुत कम लोग ऐसे है जो की यह नही जानते की यह बीमारी किन कारणों से फेलती है।

आपको बता दें की ज्यादातर लोगो की यह भांति होती है की ज्यादा मीठा खाने से लोगो को शुगर की बीमारी होती है। हालाँकि यह भी एक कारण हो सकता है लेकिन पूरी तरह से ऐसा बिलकुल भी नही है जो व्यक्ति मीठा खाते है उनको शुगर की बीमारी हो जाती है।

आपको किसी भी निर्णय पे पहुचने से पहले उसके कारणों के बारें में अवश्य जान लेना चाहिए।

diabetes hone ke karan

आपको बता दें की जब हमारे शारीर के ब्लड में ग्लोकोज़ का स्तर यनि की ब्लड शुगर का लेवल अपनी निर्धारित मात्रा से ज्यादा हो जाता है तो जो समस्या उससे उत्पन्न हो जाती है जिसको की हम शुगर की बीमारी यनि की डायबिटीज भी बोलते है।

आपको बता दें की यह बीमारी इन्सुलिन नामक होर्मोनेस में कमी हो जाने के कारण मनुष्य के शारीर में फेलती है या फिर आपके शारीर में इन्सुलिन नामक होर्मोनेस की कार्य शमता में कमी आ जाए उसके कारण हो जाती है।

आपने बहुत बार देखा होगा की जिस मरीज़ को शुगर की बीमारी होती है तो उसका इलाज इन्सुलिन नामक इंजेक्शन देकर ही दिया जाता है। ताकि जो भी रोगी है उसके शारीर में ब्लड शुगर का लेवल एकदम सामान्य हो जाए।

डायबिटीज होने के लक्षण (Symptoms Of Diabetes)

वैसे आपको बातए तो शुगर की बीमारी के लक्षण तो बहुत सरे ओते है लेकिन फिर भी हम आपको कुछ ऐसे बिंदु बताने वाले है जो की शुगर की बीमारी होने के लक्षणों के बारें में बताते है।

तो चलिए अब आपको बताते है की जिस किसी भी व्यक्ति को शुगर की बीमारी हो जाती है उसके क्या-क्या लक्षण होते है।

sugar ke lakshan

ब्लड शुगर का स्तर बढ़ जाना (Increase In Blood Sugar Levels)

यह बात तो सब लोग जानते है की जिन लोगो को मधुमेह का रोग हो जाता है तो ऐसे में उनका शुगर लेवल सामान्य से बहुत कम या फिर बहुत अधिक हो जाता है क्यूंकि मधुमेह हो जाने के कारण इन्सुलिन नामक हॉर्मोन में बहुत ज्यादा गड़बड़ी हो जाने के कारण हमारे शारीर के रक्त में गुलुकोस की मात्रा बहुत कम या फिर ज्यादा हो जाती है जिससे की मधुमेह होने का खतरा बना रहता है।

वज़न कम होने के कारण (Due To Weight Loss)

आपको बता दें की मानव के शारीर में जब कोशिकाओं को जब उनकी निश्चित गुलुकोस की मात्रा नही मिल पाती है तो सम्पूर्ण शारीर में जो वसा मौजूद  होती है जो की वह शारीर की मस्पेशियों से अपने भोजन की आपूर्ति करने लग जाती है और ऐसे में आपकी मश्पेशियों में और वसा में कमजोरी आ जाती है जिसके फलसवरूप हमारा वज़न बहुत तेज़ी से घटने लग जाता है।

ज्यादा भूख और प्यास लगना (More Hunger And Thirst)

आपको बता दें की जिन लोगो को ज्यादा भूख और प्यास लगती है तो वह इस बीमारी का संकेत हो सकते है और ऐसे में आपके मसुडो में सुजन आ जाती है जिससे की शुगर की बीमारी होती है।

आपको बता दें की कुछ मधुमेह के रोगों में तो ऐसे भी लक्षण देखें जाते है जैसे की उनकी चमड़ी पर लाल रंग के चकते हो जाते है और उनपर खुजली भी मचने लग जाती है।

बार-बार पेशाब जाना (Frequent urination)

आपको बता दें की ब्लड में शुगर की मात्रा बहुत अधिक हो जाने पर आपकी किडनी को रक्त की सफाई करने के लिए एक्स्ट्रा एफर्ट वर्क करना पड़ता है और फिर बाद में फिर पेशाब के ज़रिए आपके शारीर से ज्यादा शुगर बहार निकलने लगती है और इसके कारण ही बार-बार पेशाब जाना और बार-बार पानी पीना पड़ता है।

अगर आपको चक्कर आते हैऔर कभी-कभी अगर आप बेहोश भी हो जाते है तो ऐसे में आपको शुगर जैसी बीमारी भी हो सकती है।

डायबिटीज के रोग के उपद्रव (Complications Of Diabetes)

यदि आपको भी मधुमेह के रोग का समय पर नही पता चलता है या फिर पता चलने पर भी आप अपने खानपान तथा जीवन शेली में भी लगातार किये जाने वाले और समुचित चिकित्सा ना की जाये तो ऐसे में आपके खून में सामान्य से अधिक बढ़ जाता है और शुगर का लेवल भी अनेक अंगो जैसे की गुर्दे (Kidney), धमनियां (Arteries), त्वचा (Skin), हर्दय (Heart), आँखें (Eyes) तथा नाडी तंत्र (Nervous System) को नुकसान पहुचना शुरू हो जाता है और जब तक रोगी संभलता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है।

डायबिटीज की चिकित्सा (Diabetes Treatment)

तनाव (Tension/Anxiety Stress) से बचें

आपको बता दें की मधुमेह के रोग में तनाव की भूमिका बहुत ही महत्वपूर्ण होती है और आपको ऐसे में तनाव से बचने के लिए आपको पूरी कोशिश करनी चाहिए।

स्ट्रेस या फिर तनाव के कारणों को आपसे बात चित से ही हल करें, योगा, ध्यान, प्राणायाम तथा सुबह शाम को घुमने से भी आपको काफी हद तक अपने स्ट्रेस को कण्ट्रोल करने में सहायता मिलती है।

अपने खान-पान में सुधार करें (Improve Your Eating Habits)

चीनी और अन्य मीठे पदार्थो का सेवन आपको कम से कम करना है और अगर हो सके तो आप उसको छोड़ ही दें, चोकर युक्त आटा, हरी सब्जियों का सेवन ज्यादा से ज्यादा करें, मीठे फलो को छोड़कर अन्य दुसरे फल खाएं, सारे भोजन को एक साथ खाने की बजाय आप उसको थोड़े-थोड़े अन्तराल में लें, आप घी तेल से बनी हुई और तली भुनी चीज़े जैसे की समोसे, पूड़ी, पराठे,  कचौड़ी आदि का सेवन जितना हो सके उतना कम ही करें, गेहूं, जौ  एंव छाने को मिलाकर बनाई हुई यानि की मिस्सी रोटी शुगर की बीमारी में बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होती है।

औषधियां (Medicine)

आपको बता दें की अगर आपके खून में शुगर की मात्रा बहुत ज्यादा नही बढ़ी हुई है तो इसके उपरोक्त उपायों से आराम अवश्य मिलता है लेकिन यदि आपके खून में शुगर का लेवल ज्यादा है तो आपको चिकित्सक की राय आवश्यक लेनी चाहिए इसके लिए आपको एलोपैथी में इन्सुलिन के इंजेक्शन तथा मुख से सेवन करने वाली गोलियों आदि का प्रयोग किया जाता है तथा आयुर्वेद में बसंत कुसुमाकर रस, शुद्ध शिलाजीत, शिलाजत्वादि वटी, चन्द्र प्रभा वटी तथा अन्य अनेक दवाओं का प्रयोग किया जाता है और आपको बता दें की ये दवाइयां डायबिटीज में बहुत ही ज्यादा फायदेमंद साबित होती है लेकिन इन्हें आपको  चिकित्सक की राय लेकर ही उपयोग में लाना चाहिए।

शारीरिक रूप से सक्रीय बने रहे (Be Physically Active)

नित्य व्यायाम करना, योग प्राणायाम को नियमित रूप से अभ्यास करना, सुबह शाम चहल कदमी यनि की सुबह और शाम भ्रमण (घूमना) करना मधुमेह के रोग में शुगर को कण्ट्रोल करने के लिए बहुत ही लाभदायक है तथा मोटापे पर भी नियंत्रण रहता है जो की डायबिटीज का महत्वपूर्ण कारण है।

तो दोस्तों ये थे हमारे आज का आर्टिकल जो केवल सुगर (Diabetes) के घर बैठे नुस्खे लेकिन दोस्तों अगर आप का सुगर लेवल काफी ज्यादा बढ़ चूका है तो आपको डॉक्टर की सलाह अवश्य लेनी चाहिए।

आशा है आपको हमारा ये आर्टिकल जरुर पसंद आया होगा।

Amit Shrivastava
 

हैल्लो, मेरा नाम अमित अम्बरीष श्रीवास्तव है। मैं एक लेखक और एक ब्लॉगर हॅू और मुझे रचनात्मक लेखक बहुत पसंद है। मैंने 2013 में अपनी ब्लॉगिंग करियर की शुरूआत की थी, और कभी पीछे नहीं देखा। य​ह ब्लाग मैने स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती से सम्बन्धित अपने विचार साझा करने के लिये बनाया है और मुझे आशा है कि आपको इसका कॉंटेंट पसंद आयेगा।

Click Here to Leave a Comment Below 0 comments

Leave a Reply:

CommentLuv badge