ग्रीन टी कैसे बनाएँ और इसके फायदे -What Are The Benefits Of Green Tea & How To Make It in Hindi 

आपको बता दें की पिछले कुछ समय से भारत देश में ग्रीन टी का चलन कुछ ज्यादा ही बढ़ता हुआ नज़र आ रहा है और आपको बता दें की  दुनिया में ग्रीन टी का सेवन काफी सदियों से चला आ रहा है।

आपको बता दें ग्रीन टी को कैमेलिया सिनेसिन्स नाम के पौधे से बनाया जाता है। ग्रीन टी में कैफीन की मात्रा बहुत ज्यादा होती है लेकिन काली चाय से कम होती है जिससे की ग्रीन टी से होने वाले फ़ायदे और भी बढ़ जाते है।

आपको बता दें की कई सालो से हमारे घरो में जो चाय बने जाती है वो काली चाय होती है और आपको बता दें की ग्रीन टी के बहुत सारे फ़ायदे होते है।

आपको बता दें की पश्चिम के ज्यादातर देशो में ब्लैक टी की जगह ग्रीन टी का प्रयोग किया जाता है और इसमें ऐसे प्राक्रतिक एंटी ऑक्सीडेंट होते है जो की हमारी बॉडी को बहुत ज्यादा फायदा पहुंचते है।

green-tea

बहुत से लोग ऐसे भी है जो की अपने बढ़ते पेट को रोकने और अपने वज़न को कम करने के लिए उपयोग में लेते है और ग्रीन टी से आप बड़ी ही आसानी से अपना पेट कम कर सकते है और इसके अलावा यह आपके शरीर की स्किन और आपके बालो के लिए भी बहुत ज्यादा फायदेमंद होती है।

अगर आप रोजाना ग्रीन टी का सेवन करते है तो ऐसे में यह आपकी बॉडी की कम करने की श्रमता को बढाता है और आपका दिमाग भी तेज़ करता है।

अगर आप रोजाना एक कप सिंपल चाय की जगह ग्रीन टी को उपयोग में लाते है तो यह हमारी सेहत के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद साबित होती है।

आपको बता दें की ग्रीन टी का पहली बार उत्पादन चीन में हुआ था लेकिन इसके इस बढ़ते चलन के चलते हुए अब ये पुरे विश्व भर में प्रसिद्ध हो चुकी है।

इस ग्रीन टी के बड़े सरे फायदों के चलते हुए इसको कई तरह के खाने-पीने के पदार्थो और ब्यूटी प्रोडक्ट्स में भी ग्रीन टी के अर्क का प्रयोग किया जाने लगा है और इसके अलावा कई तरह की बिमारियों के इलाज के लिए भी ग्रीन टी का उपियोग किया जाता है।

आज के इस आर्टिकल में भी हम आपको कुछ ग्रीन टी के फायदों के बारे में बताने जा रहे है तो आप इस आर्टिकल तो ध्यान से पढ़ते रहिए।

ग्रीन टी को कैसे बनाएँ (How To Make Green Tea)

आपको बता दें की इस दुनिया में हर एक इंसान अपने दिन की शुरुआत एक कप चाय के साथ करता है क्यूंकि लोगो का ऐसा मानना है की चाय को पीने से उनकी थकान दूर हो जाती है और उनके शरीर में जो भी आलास होता है वो दूर हो जाता है।

लेकिन आपके बता दें की आपमें से बहुत कम ऐसे लोग है जो की इस बात को जानते है की चाय को पीने से आपके शरीर की पाचन क्रिया कम हो जाती है जिसके कारण की आपके शरीर में कब्ज़ और गैस जैसी अनेक तरह की बीमारियाँ आपके शरीर में आ जाती है।

अगर आप सुबह सुबह या फिर दिन भर भी चाय की जगह पर ग्रीन टी का इस्तेमाल करते है तो यह आपके शरीर के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होगी और साथ ही साथ यह भी आपके शरीर से थकान को दूर भगा सकती है।

how to make green tea

अगर आप चाहे तो आप ग्रीन टी की बाज़ार से खरीद सकते है यह आपको किरयाने की दुकान पर आसानी से उपबल्ध हो जाएगी लेकिन आगर आप इसको अपने घर पर बनाना चाहते है तो आप इसको बड़ी ही आसानी से अपने घर में बना सकते है।

इसको बनाने के लिए आपको सबसे पहले एक बर्तन में 2 कप पानी के डालने है और फिर उस पानी को उबालना है और फिर जब पानी आधा रह जाये तो आप इसको एक कप में दल लें। अब आपको इस उबले हुए पानी में 2 या फिर 3 Green Tea Bags को पानी में छोड़ दें।

लेकिन आप ध्यान रखें की अधिक देर तक Green Tea Bags को पानी में डालकर ना रखें क्यूंकि अगर आप ऐसा करते है तो ऐसा करने से आपका स्वाद ख़राब हो जाएगा।

अब आपको Green Tea Bags को पानी से निकलना है और उसमे आपको स्वाद अनुसार चीनी को डालना है और फिर उसको पीना है। अगर आप चाहे तो आप इसमें इलियाची पाउडर को डालकर इसके स्वाद को भी बढ़ा सकते है।

ग्रीन टी के प्रकार

आपको बता दें की चाय के विभिन्न प्रकारों में ग्रीन टी का उत्पादन और सेवन आमतौर पर दुनियाभर में किया जाता है। ग्रीन टी के उत्पादन, खेती और फसल की समय के अनुसार विभिन्न प्रकार के होते है। जिनमे से ये कुछ निम्न प्रकार है :

ग्योकुरो (Gyokuro)

यह पूर्ण सूर्य की बजाय छाव में उगाई जाती है और संचा से यह बिलकुल अलग है। आपको बता दें की चाय की  झाड़ियों को चुनने के लगभग 20 दिन पहले कपडे या रीड स्किन से ढक दिया जाता है।

सेंचा (Sencha)

आपको बता दें की यह ग्रीन टी का सबसे ज्यादा सेवन किया जाने वाला और एक जाना माना प्रकार है। इसका निर्माण एक आम प्रक्रिया द्वारा ही किया जाता है जिसमे की पत्तियों को धुप में सुखाकर या फिर भांप के द्वारा चाय को तैयार किया जाता है।

क्युबूसेचा (Kabusecha)

आपको बता दें की इसको चुनने में लगबग एक हफ्ते का समय लग जाता है और एक हफ्ते के लिए क्युबूसेचा झाड़ियों को अधिकांश धुप की रौशनी से बचने के लिए इसको कपडे से ढक दिया जाता है।

फुकमुशी सेंचा (Fukamushi Sencha)

आपको बता दें की फुकमुशी का अर्थ होता है ” लम्बे समय तक उबला हुआ” यह ग्रीन टी का एक प्रकार है जिसे की सेंचा के मुकाबले लम्बे समय तक उबला जाता है। चूँकि इस प्रक्रिया में पत्तियों को भांप की गर्मी से पूरी तरह से उजागर किया जाता है जिससे की वे पाउडर बन जाते है और इससे चाय का स्वाद भी बढ़ जाता है और चाय का रंग भी गहरा हो जाता है।

ग्रीन टी पीने के अनोखे फ़ायदे (Amazing Benefits Of Green Tea)

सुन्दरता (Beauty)

अगर आप भी अपने चहरे की सुन्दरता को बढ़ाना चाहते है तो आपको जल्द से जल्द ग्रीन टी को आपनी डाइट में शामिल कर देना चाहिए।

ग्रीन टी का सेवन करने से आपकी स्किन में कसावट बनी रहती है और आपकी उम्र के साथ-साथ भी आपके चहरे पर झुरिया भी नही पड़ती है।

benefits of green tea

 

दिल की बीमारी (Heart Disease)

आपको बता दें की जो लोग ग्रीन टी का सेवन करते है उनकी ऊपर दिल के दौरे का खतरा भी कम हो जाता है।

ग्रीन टी आपके खून को पतला कर देती है जिसके कारण की आपके शरीर में खून का थक्का नही जमता है।

ग्रीन टी के सेवन करने से आपके शरीर में कोलेस्ट्रोल  का लेवल भी बिलकुल कण्ट्रोल में रहता है।

heart-disease green tea

वज़न कम करना (Weight Loss)

green tea se krein vajan kam

बढ़ता वजन आजकल की पीढ़ी के लिए एक बहुत बड़ी समस्या बन चुकी है और हर कोई अपने वजन को लेकर चिंतित रहता है लेकिन क्या आपको पता है की अगर आप ग्रीन टी का सेवन करते है तो इससे आप अपना वजन बड़ी ही आसानी से कम कर सकते है।

अगर आप बहुत ज्यादा कसरत करके और योग करके भी आपने वजन को कण्ट्रोल में नही कर पा रहे तो ऐसे में ग्रीन टी आपके लिए एक बहुत ही अच्छा उपाय है अपना वजन कम करने के लिए।

ग्रीन टी में कैफीन की मात्रा बहुत ज्यादा अधिक होने के कारण ग्रीन टी शरीर में फैली फालतू चर्बी को कम कर देती है और आपके शरीर को फिट रखने में आपकी मदद करती है।

आप अपने digestive system को तंदुरस्त रखने के लिए खाना खाने के बाद एक कप ग्रीन टी का जरुर पिए। रात को सोने से पहले एक कप ग्रीन टी का पीने से आपकी शरीर की चर्बी बिलकुल आसानी से कम हो सकती है।

 

सहन-शक्ति (Tolerance Power)

आपको बता दें की ग्रीन टी को पीने से आपके शरीर की थकान कम हो जाती है और आपके बॉडी की काम करने की कैपेसिटी भी काफी हद तक बढ़ जाती है।

इसीलिए अगर अप ज्यादा कम करने के बाद थकावन महसूस करते है तो आपको एक कप ग्रीन टी का सेवन जरुर करना चाहिए।

 

कैंसर से बचाव (Protection From Cancer)

आपको पता नही होगा इसीलिए आपको बता दें की कैंसर जैसी खतरनाक बिमारियों से बचने के लिए भी ग्रीन टी का उपयोग किया जाता है।

ग्रीन टी आपके शरीर में कैंसर पैदा करने वाले सेल्स को भी बढ़ने से रोकती है। आपको बता दें की जो महिलाएं ग्रीन टी का सेवन करती है तो ऐसे में उनमे ब्रैस्ट कैंसर होने का खतरा 20% तक कम हो जाता है।

आपको बता दें की मुह के कैंसर से जूझ रहे लोगो के लिए ग्रीन टी एक बहुत ही अच्छी औषदी साबित हो सकती है।

 

ब्लड-प्रेशर (Blood Pressure)

ग्रीन टिका रोजाना सेवन करके आप अपने शरीर के ब्लड प्रेशर को 50% तक आसानी से कण्ट्रोल किया जा सकता है। आपको बता दें की ग्रीन आपके खून को प्रभावित करने वाली धमनियों को भी आराम देती है जिसके कारण की आपके उच्च रक्तचाप ( High Blood Pressure ) से होने वाली समस्यओं को भी कम कर देती है।

 

तनाव (Stress)

ग्रीन टी के सेवन करने से आपको तनाव की समस्या से भी छुटकारा मिलता है। ग्रीन टी की पत्तियों की खुशबू से आपका दिमाग भी शांत रहता है।आपको बता दें की सिर दर्द की समस्या को भी दूर करने के लिए भी ग्रीन टी की पत्तियों का इस्तेमाल किया जाता है।

 

बालो के लिए है फायदेमंद (Beneficial For Hairs)

अगर आप ग्रीन टी को उबालकर फिर उसको ठंडा करके बालो पर लगाने से आपके बाल प्राक्रतिक रूप से सुन्दर बन जाते है। आपको बता दें की ग्रीन टी आपके बालो के लिए एक कंडीशनर का कम करती है।

 

मुंह की समस्या (Mouth Problem)

आपको बता दें की आपके मुंह में कुछ इन्फेक्शन पैदा करने वाले बैक्टीरिया होते है जो की ग्रीन टी का सेवन करने से बिलकुल आसानी से खत्म किये जा सकते है।

जिसके कारण की आपके मुंह की बदबू भी खत्म हो जाती है और साथ ही साथ आपके मुंह में कैंसर होने का खतरा भी कम हो जाता है। ग्रीन टी का सेवन करने से आपके दांतों का पीलापन भी दूर हो जाता है।

 

मधुमेह (Diabeties)

आपको बता दें की ग्रीन टी आपके शरीर में ग्लूकोस की मात्रा को बढ़ने नही देती है और इस वजह से जिन लोगो को मधुमेह की शिकायत होती है उनको ग्रीन टी का सेवन जल्द से जल्द शुरू कर देना चाहिए।

 

रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity)

आपको बता दें की ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन-सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है जिसके कारण की ग्रीन टी का सेवन करने से आपकी बॉडी की रोग प्रतिरोधक शमता बढती है, और आपके शरीर

 

हाई कोलेस्ट्रोल से बचाव (Protection From High Cholestrol)

आपको बता दें की ग्रीन टी का सेवन करने से हमारी बॉडी को tannis मिलता है जो की बुरे कोलेस्ट्रोल (low-density lipoprotiens) को कम करने में आपकी मदद करता है।

आपको बता दें की ये बुरा कोलेस्ट्रोल हमारे हर्दय को रुकावट पैदा करने का काम करता है और इसीलिए आपको ग्रीन टी का ज्यादा से ज्यादा सेवन करना चाहिए।

high-blood-pressure-green-tea

मस्तिष्क रोग में फायदेमंद (Beneficial For Brain)

आपको बता दें की ग्रीन टी आपके शरीर मेंमेटाबॉलिक रेट या फिर वसाऑक्सिडाइजेशन को भी बढाती है। इसके नियमित रूप से उपयोग करने से मस्तिष्क उत्तकों को मृत होने से भी रोकता है।

इससे आपको भूलने की बिमारियों जैसे अलजाइमर या फिर पार्किशन जैसी बीमारियाँ होने की भी आशंका काफी हद तक कम हो जाती है।

 

गठिया से बचाए (Collins)

आपको बता दें की ग्रीन टीअर्थराइटिस के जोखिम को रोकने में और उसको कम करने में भी काफी ज्यादा मददगार साबित होती है।

आपको बता दें की यहउपास्थि को भी नष्ट कर देने वाले एंजाइम को अवरुद्ध करके और इसकी रक्षा भी करती है।

gathiya baa thik kare green tea

ग्रीन टी और कोल्ड (Green Tea And Cold)

अगर आपको कोल्ड या फिर फ्लू है तो ऐसे में अगर आप ग्रीन टी का सेवन करते है तो यह आपके लिए काफी फायदेमंद होता है।

आपको बता दें की इसमें पाया जाने वाला विटामिन सी फ्लू और सर्दी के इलाज में भी बहुत ज्यादा मदद करता है और अगर आप चाहे तो आप इसे दिन में 3-4 बार भी इसका सेवन कर सकते है।

 

ग्रीन टी का सेवन करने का सही समय और तरीका

आपको बता दें की ग्रीन टी का फायदा उठाने का एक सही तरीका और एक सही समय होता है जिससे की आपको उसका पूरा फायदा मिल सके और आपको ग्रीन टी को उसी तरीके और उसी समय पर ही पीना चाहिए।

अब हम आपको बताएँगे की आपकी ग्रीन टी को किस टाइम  पर पीना चाहिए और किस टाइम नही।

इसमें सबसे पहली बात जो आपको जननी चाहिए वो है की आपको ग्रीन टी को सुबह-सुबह खली पेट बिलकुल भी नही पीना चाहिए क्यूंकि इसमें कैफीन की मात्रा बहुत अधिक होती है और ऐसे में अगर आप इसको सुबह खली पेट पीते है तो यह आपके पेट में तेज़ाब बन सकता है और आपको खाना खाने के तुरंत बाद में भी इसका सेवन नही करना चाहिए।

ग्रीन टी का पूरा फायदा लेने के लिए आपको इसे खाने के बीच में 2 टाइम पीना चाहिए लेकिन जिन लोगो को अपना वजन कम करना है वो लोग ग्रीन टी को खाने के साथ भी पी सकते है।

लेकिन ऐसे में वो लोग इसे न करें जिन लोगो का पेट ज्यादा सवेदनशील है।

 

ग्रीन टी को कैसे इस्तेमाल करें

आपको बता दें की ग्रीन टी में कैफीन की मात्रा बहुत ज्यादा अधिक होती है जिसके कारण की अगर आप इसको जरूरत से अधिक पीते है तो यह आपकी सेहत के लिए बहुत हानिकारक साबित हो सकती है और धीरे-धीरे इसके फ़ायदे कम होने लग जाते है और इसके फ़ायदे आपके लिए नुकसान में बदलते चले जाते है लेकिन अगर आप ग्रीन टी को सही मात्रा में पीएंगे तो यह आपको बहुत ज्यादा फायदा पहुंचाएगी।

आपको बता दें की छोटे बच्चो के लिए ग्रीन टी को पीना बिलकुल भी सही नही है क्यूंकि ग्रीन टी को पीने से भूख बहुत ज्यादा कम लगती है जिससे की बच्चो को पूरे पोषक तत्व नही मिल पाते है।

इसके अलावा आपको बता दें की गर्भवती महिलाओं के लिए ग्रीन टी बहुत ही ज्यादा नुकसानदेह होती है और जो महिला गर्भ धारण करना चाहती है तो उसे भी ग्रीन टी का इस्तेमाल बिलकुल भी नही करना चाहिए।

उम्मीद करते है की आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा और अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसको अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें।

 

Amit Shrivastava
 

हैल्लो, मेरा नाम अमित अम्बरीष श्रीवास्तव है। मैं एक लेखक और एक ब्लॉगर हॅू और मुझे रचनात्मक लेखक बहुत पसंद है। मैंने 2013 में अपनी ब्लॉगिंग करियर की शुरूआत की थी, और कभी पीछे नहीं देखा। य​ह ब्लाग मैने स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती से सम्बन्धित अपने विचार साझा करने के लिये बनाया है और मुझे आशा है कि आपको इसका कॉंटेंट पसंद आयेगा।

Click Here to Leave a Comment Below 0 comments

Leave a Reply:

CommentLuv badge